vnvn

म्यूच्यूअल फंड क्या होता है? | what is mutual fund?

4.8/5 - (33 votes)
what is mutual fund min
म्यूच्यूअल फंड क्या होता है /what is mutual fund

म्यूच्यूअल फंड क्या होता है? म्यूच्यूअल फंड हर एक बड़ी कंपनी इन्वेस्टमेंट करने का जरिया होता हे। जो की निवेशकों से पैसा इकठा करके उसे एक पोर्टफोलियो बना के अलग अलग जगहों पे इन्वेस्टमेंट किया जाता हे। जिसे ये कंपनियां stocks, bonds और दूसरे फ़ायनैन्शल assets में निवेश करती है। और धन अर्जित करती है। इस सभी तरह के कामों को कंपनियों के पूरी टीम लगी हुई रहती है।

आसान शब्दों में समझाया जाए तो Mutual Funds काफी सारे लोगों के इकट्ठे पैसे से बना हुआ fund होता है। जिसमें कंपनियों द्वारा इन पैसों को अलग-अलग जगहों पर Investment किया जाता है। और कंपनियों की यही कोशिश इसमें रहती है कि निवेशकों का पैसा इसके अंदर ज्यादा से ज्यादा दिया जाए। ताकि निवेशक उस कंपनी में दोबारा इन्वेस्टमेंट करें

यह पूरा सिस्टम कंपनी के ऊपर ही डिपेंड होता है। कि वह सही जगह पैसे पर ऐसा लगा रही है या गलत जगह पैसा लगा रही है यह थोड़ा जोखिम भरा जरूर होता है।

Mutual Funds में जरूरी नहीं है। कि बड़ी राशि ही निवेश करी जाए म्यूचुअल फंड में छोटी राशि से भी आप इन्वेस्टमेंट चाहे तो कर सकते हैं।

उपभोक्ता चाहे तो ₹500 महीने मैं स्टार्ट कर सकते हैं।

आईसीआईसीआई बैंक क्रेडिट कार्ड अप्लाई कैसे करे

म्यूच्यूअल फंड एक ऐसा शब्द है। जो काफी लोगों को कन्फ्यूजिंग करता है। कई लोगों को लगता है। यह एक स्टॉक मार्केट की तरह काम करेगा या इसमें एक छोटे टाइम के लिए इन्वेस्ट करके पैसा कमाया जा सकता है।

Mutual Funds यूनिट के हिसाब से खरीदा जाता है जिसमें 0.1 से 1 पॉइंट ज्यादा तक लिया जाता है इसे यूनिट कहा जाता है मान लो आप कोई म्यूच्यूअल फंड में इन्वेस्टमेंट करते हैं तो ₹500 में एक यूनिट मिलता है। इस यूनिट को NAV कहा जाता है।  ऐसे ही इसमें हर कंपनी अपना ग्रोथ चार्ट प्रदर्शित करती है जिसके अंदर पता चलता है कि कंपनी कितना ग्रोथ कर रही है। और निवेशिकों कितना रिटर्न मिल रहा है।

काफी सारी चीजें हैं जिसे जानना काफी जरूरी हो जाता है। कि म्यूच्यूअल फंड क्या है। म्यूच्यूअल फंड आज के टाइम में एक ऐसा बढ़िया विकल्प है। जोकि काफी प्रभावशाली होता है। आज के टाइम में हमारे पास निवेश करने के बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं। उसी में से एक म्यूच्यूअल फंड भी है

आज के टाइम में अगर कोई व्यक्ति म्यूच्यूअल फंड के अंदर इन्वेस्टमेंट करना चाह रहा हो। तो उसे पूरी जानकारी कर लेनी चाहिए कि म्यूच्यूअल फंड के अंदर हमेशा लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट ही अच्छे रिटर्न्स देते हैं। शॉर्ट टर्म म्युचुअल फंड इन्वेस्टमेंट भी काफी प्रभावशाली होते हैं। लेकिन उस से बेहतर है कि लॉन्ग टाइम में इन्वेस्ट किया जाए और इस बात की भी जानकारी होनी चाहिए

कि कौन सा म्यूच्यूअल फंड सबसे बेहतर पोजीशन पर चल रहा है। मार्केट में जो कि हमको अच्छे से अच्छा रिटर्न दे सकें यह रिटर्न 10 परसेंट से लेकर 90 परसेंट से भी ऊपर चला जाता है। और नीचे भी आता है। और अगर आपको इसकी सही जानकारी रहती है तो आपको बहुत ही अच्छा रिटर्न मिलता है और साथ ही साथ म्यूच्यूअल फंड के साथ अच्छी कमाई भी हो जाती है

म्यूच्यूअल फंड क्या होता है?

यह एक तरह का पब्लिक फंड होता है। जिसमें काफी सारे लोगों का पैसा लगाया जाता है। या यह कहें खूब सारा पैसा इकट्ठा करके खूब सारा पैसा कमाया जाता है। यानी एक बहुत बड़ा निवेश

निवेशकों से से छोटी-बड़ी धनराशि एकत्रित कर कर वह पैसा कंपनी इन्वेस्टमेंट कर देती है। यानी सीधे बाजार के अंदर इन्वेस्टमेंट कर देती है अब बाजार से तात्पर्य यह है।

उन सारे पैसों को शेर बाजार हो। या ब्रांडो के साथ आदि में निवेश करके धन अर्जित किया जाता है। एग्जांपल के तौर पर मान लो ए. बी. सी. कंपनी है हमने एबीसी का म्यूच्यूअल फंड खरीदा अब ए बी सी कंपनी हमारे पैसे से कई तरह के निवेश करेंगी

जिसे वह शेयर बाजारों में ब्रांड मार्केट में इन्वेस्ट करके या अपनी कंपनी में पैसा लगाकर और जो भी मुनाफा उसे अर्जित होगा वह निवेशकों को यूनिट के हिसाब से मुनाफा बांट देती है

कोई भी कंपनी का म्यूच्यूअल फंड ले सकते हैं क्या?

नहीं ऐसा नहीं है हर किसी कंपनी का म्युचुअल फंड नहीं होता है. जिस भी कंपनी का म्यूच्यूअल फंड होता है वह सेबी के नाम से रजिस्टर्ड होता है.

यह भी पड़े:- बजाज फाइनेंस आरबीएल क्रेडिट कार्ड कैसे बनाएं

क्योंकि किसी भी म्युचुअल फंड में सेबी के नाम का रजिस्टर होना काफी महत्वपूर्ण है म्यूच्यूअल फंड निवेशकों को डिविडेंड फंड पर होने वाले सभी खर्चो में एमएमसी और एडमिन खर्च व एजेंट का कमीशन मैं सभी तरह की चीजें उसे काट कर दिया जाता है.

म्यूच्यूअल फंड कितने तरह के होते हैं?

म्यूच्यूअल फंड वैसे दो प्रकार के होते हैं.

  • ओपन एंडेड फंड
  • क्लोज एंडेड फंड

ओपन एंडेड फंड में आप अपने हिसाब से जितना चाहे उतना निवेश कर सकते हैं और जब चाहे अपना पैसा निकाल भी सकते हैं कुछ कंपनियों में ओपन एंडेड फंड में इन्वेस्टमेंट अमाउंट को फिक्स रखा जाता है

किसी के अंदर ₹100 से स्टार्ट हो जाता है और किसी के अंदर ₹500 से स्टार्ट होता है.

क्लोज एंडेड फंड यह एक तरह से फिक्स्ड डिपॉजिट की तरह होता है यानी कुछ नियमित अवधि के लिए जिसका कम से कम 3 साल का टाइम होता है।

इसे आप लॉकिंग पीरियड भी कह सकते हैं जब आप पैसा निवेश कर देंगे इसके अंदर तो यह एक तरह से लॉक हो जाता है यानी अब 3 साल से लेकर 15 साल तक का लॉकिंग पीरियड हो सकता है।

यह सिर्फ फंड न्यू फंड ऑफर के टाइम ही खरीदा जा सकता है म्यूच्यूअल फंड का सबसे अच्छा फायदा यह है कि जो भी निवेशक होता है वह इसे कभी भी मौजूदा टाइम के अनुसार एनएवी के हिसाब से बेच भी सकता है खरीद भी सकता है।

म्यूच्यूअल फंड कंपनियां हमारा पैसा कैसे यूज करती हैं?

Mutual Funds अपने हिसाब से निवेशकों का पैसा चार भागों में बांटा करती है

  • ग्रोथ फंड
  • इनकम फंड
  • बैलेंस फंड
  • मनी मार्केट फंड

ग्रोथ फंड :- इस फंड के जरिए सबसे ज्यादा निवेशकों का पैसा शेयर मार्केट में निवेश किया जाता है और इनका सिर्फ एक ही लक्ष्य होता है जिससे छोटी अवधि मैं ज्यादा कैपिटल एप्रिसिएशन उपलब्ध कराना होता है

इनकम फंड :-यह फंड फिक्स आए देने वाले कामों में लगाया जाता है जैसे सरकारी प्रतिभूतियों में, सिक्योरिटी जैसे ब्रांड में खरीदे जाते हैं जैसे

बैलेंस फंड :- बैलेंस फंड ग्रोथ फंड और इनकम फंड का एक हिस्सा होता है बैलेंस फंड को दोनों में निवेश किया जाता है चाहे वह ग्रोथ फंड हो या इनकम फंड हो जिसमें इनकम की गारंटी हंड्रेड परसेंट रहती है

मनी मार्केट फंड :- इस तरह का फंड डिपॉजिट या कमर्शियल पेपर्स में निवेश किया जाता है यह एक तरह का आय प्रदान करता है इसका एक ही उद्देश्य है कि आसानी से पैसा कैसे उपलब्ध कराया जाए

कुछ टाइम पहले म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए कोई मित्र फंड ऑफिस या म्यूचुअल फंड कंपनी के ऑफिस में जाना होता था लेकिन अभी की जो नया टाइम चल रहा है

उस टाइम के हिसाब से आप मोबाइल के अंदर ही म्यूच्यूअल फंड इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं वह भी काफी आसानी से आज के डिजिटल युग के अंदर इतने सारे डेवलपमेंट हो चुके हैं

जिसे आप यूज कर कर के आप इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं सिर्फ मोबाइल से ही आप मुचल फंड को ऑपरेट घर से कर सकते हैं ऐसी ढेर सारी ऐप है जो कि यह सर्विस प्रोवाइड करती है

जिस्म बाद शेयर मार्केट हो म्यूच्यूअल फंड हो आप उसे आसानी से ट्रैक कर सकते हैं कि आपने इन्वेस्टमेंट कितना किया है और उसका लाभ कितना मिला है आपको यह नुकसान क्या हुआ है

आपको यह सभी तरह की जानकारी आपको उस ऐप में मिल जाएंगे उनमें से कुछ बेहतरीन एप्स है जिसे हम नीचे श्रेणी के हिसाब से बता दिया जाएंगे

Positive
  • फास्ट बाय एंड सेल
  • आसानी से मैनेजमेंट
  • छोटे से निवेश से स्टार्ट
Negatives
  • बहुत ज्यादा फीस जैसे कमीशन
  • धन अर्जित के लिए ज्यादा इन्वेस्टमेंट
  • फंड की तुलना करने में परेशानी

INDMoney Best Investment Trading Mobile App

INDmoney: Best Platform to Track & Manage All Your ...
INDmoney: Best mobile Platform to Track & Manage All Your Investment

INDMoney आईएनडी मनी सबसे बेस्ट मोबाइल ऐप है। इस ऐप को डाउनलोड करके आपका भी आकर्षक गिफ्ट प्राप्त कर सकते हैं।

यह अभी तक की सबसे बेस्ट ऐप है। जिसके अंदर आप म्यूचुअल फंड इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं। और इसके अंदर आसानी से शेयर मार्केट भी आप खरीद सकते हैं। और बेच भी सकते हे।

यह काफी यूजर फ्रेंडली है इसके अंदर कोई भी आसानी से एक बार में ही समझ सकता है। कि म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट कैसे करना है।

कैसे निकालना है। इसमें आप लाइव ट्रैक कर सकते हैं कि आपका म्यूचुअल फंड कौन सी पोजीशन पर है। आप इसे गूगल प्ले स्टोर से भी डाउनलोड कर सकते हैं। और यह ऐप डाउनलोड के लिए उपलब्ध है। लिंक पर क्लिक करके डाउनलोड करें। डाउनलोड यहां से करें

FAQ: म्यूच्यूअल फंड क्या होता?

म्यूचुअल फंड कितने प्रकार के होते हैं?

पांच प्रकार के म्यूचुअल फंड हैं। पांच प्रकार के इक्विटी फंड, बॉन्ड फंड, बैलेंस्ड फंड, मनी मार्केट फंड और शॉर्ट टर्म इनकम फंड हैं।

म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें?

आज के टाइम में आसानी से निवेश किया जा सकता है. आज के डिजिटल युग में ऑनलाइन प्लेटफार्म है. जिसे आप आसानी से ट्रैक कर सकते हैं कि कौन सा मै म्यूच्यूअल फंड अच्छा रिटर्न दे रहा है और कौन सा मैचुअल फंड रिटर्न नहीं दे रहा है जिसमें मोबाइल एप्स या किसी वेबसाइट मैं सीधे इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं. या फिर किसी म्यूच्यूअल फंड एडवाइजरी एजेंट के द्वारा भी आप यह सेवा ले सकते हैं जो कि आपको बताते हैं. जोकि कि आपको एडवाइस करेंगे किन में इन्वेस्टमेंट करना आज के टाइम में सही है.

म्यूच्यूअल फंड लेना या इन्वेस्टमेंट क्या सही है?

जी हां म्यूच्यूअल फंड लेना कोई बुरी बात नहीं है लेकिन यह जोखिम भरा भी होता है बिना गाइडलाइंस के इन्वेस्टमेंट कभी लॉस भी दे जाता है इसलिए मार्केट के हिसाब से चेक करना चाहिए कि कौन सा म्यूचल फंड इन्वेस्टमेंट सबसे बेहतर रहेगा कौन प्रॉफिट में है कौन लॉस में है. लेकिन यह ध्यान देना जरूरी है कि जो भी इन्वेस्टमेंट हो रही है वह एकदम सही जगह होना चाहिए.


दोस्तों इस पोस्ट में हमने जाना है कि म्यूचुअल फंड क्या होता है कैसे म्यूच्यूअल फंड में इन्वेस्टमेंट किया जाता है और म्यूच्यूअल फंड कितने तरह के होते हैं यह सभी तरह की जानकारी आपको कैसी लगी आप हमें कमेंट में जरूर बताइएगा या किसी भी तरह की कोई गलती हो तो आप उसे भी बताइएगा धन्यवाद इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत आभार

हेलो दोस्तों, मैं Akshay Tiwari, Loan-apply.com (हिन्दीमे) का Author हूँ. और मुझे डिजिटल मार्केटिंग में काफी इंटरेस्ट है. इस ब्लॉग में आपको सभी तरह की जानकारी मिल जाएगी हिंदी में जिसमें आप जान सकेंगे कि हम ऑनलाइन माध्यम के द्वारा लोन अप्लाई कैसे कर सकते हैं आशा है कि आप को इस ब्लॉग को पढ़ने में बहुत अच्छा लगेगा और आप हमारा सहयोग करेंगे कोई भी सुझाव देने के लिए आप हमें कमेंट के माध्यम से भी संपर्क कर सकते हैं. हमसे संपर्क करने के लिए हमें ईमेल करें [email protected]

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

ऑनलाइन लोन अप्लाई केसे करें हिंदी & English में
Logo